वैक्सीनेशन 2.0 अभियान का किया आगाज प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने वैक्सीन लगवाकर किया कि सुरुआत

0
306

वैक्सीनेशन की तारीख, समय तय करने की सुविधा, ऑफलाइन वालों का भी टीकाकरण

देश में आज से कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा चरण शुरु हो गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दूसरे चरण में सबसे पहले टीकाकरण करवाकर वैक्सीनेशन अभियान का आगाज कर दिया है। केंद्र सरकार के अनुमान के मुताबिक आज से शुरु हो रहे कोरोना टीकाकरण में 27 करोड़ लोगों का वैक्सीनेशन होगा। वहीं मध्यप्रदेश में ऐसे लोगों का आकंड़ा 71 लाख से अधिक है जो वैक्सीनेशन के दूसरे चरण में कवर होंगे।

1-आज से किनका वैक्सीनेशन-आज से शुरु हो रहे कोरोना वैक्सीनेशन के दूसरे चरण में 60 साल से उपर के बुजुर्गो और 45 साल से अधिक के गंभीर बीमारी से पीड़ित लोगों का टीकाकरण किया जाएगा। गंभीर बीमारी से पीड़ित लोगों को वैक्सीनेशन के वक्त मेडिकल सर्टिफिकेट दिखाना होगा। स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसके लिए डिक्लेशन फॉर्मेट को जारी किया है। इस फॉर्म को डॉक्टर से सर्टिफाई करवाना होगा। इसके साथ सरकार ने 20 बीमारियों की लिस्ट भी जारी की है जिनसे पीड़ित लोग टीकाकरण की श्रेणी में आएंगे।

2-सुबह 9 बजे से को-विन पर रजिस्ट्रेशन-आज से शुरु हो रहे दूसरे चरण के वैक्सीनेशन के लिए लोगों को को-विन 2.0 एप/पोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन कराना होगा। सुबह 9 बजे से शुरु हो रहे रजिस्ट्रेशन के जरिए आप अपनी सुविधा के अनुसार वैक्सीनेशन का अपॉइंटमेंट स्लॉट बुक कर सकेंगे। को-विन पोर्टल पर आपको अपने आसपास
वैक्सीनेशन केंद्र की पूरी जानकारी होगी। को-विन-2 एप पर लोग टीकाकरण का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराकर तिथि, समय का निर्धारण अपनी इच्छा अनुसार कर सकते हैं।

3-एक मोबाइल से 4 रजिस्ट्रेशन-वैक्सीनेशन का ऑनलाइन अपॉइंटमेंट बुक करने के लिए एक फोटोयुक्त पहचान पत्र का उपयोग किया जाएगा। इस चरण में अरोग्य सेतु एप के जरिए भी रजिस्ट्रेशन की सुविधा दी गई है। एक मोबाइल नंबर से चार लोगों के ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन किए जा सकते है लेकिन फोटो पहचान पत्र अलग-अलग होना चाहिए।
4-रजिस्ट्रेशन नहीं कर पाने वालों का भी टीकाकरण- ऐसे लोग जो ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन नहीं कराकर अपना अपॉइंटमेंट नहीं बुक कर सकते हैं। मध्यप्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी के बाद ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन नहीं कराने वाले लोग दोपहर तीन बजे के बाद वैक्सीनेशन सेंटर पर पहुंचकर तुरंत रजिस्ट्रेशन कराकर वैक्सीनेशन करा सकते है।
5-वैक्सीनेशन सेंटर पर दिखाना होगा पहचान पत्र-ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के बाद वैक्सीनेशन के लिए जाने पर आपको वैक्सीनेशन सेंटर पर फोटो पहचान पत्र दिखाना होगा। इसके साथ मोबाइल पर आए रजिस्ट्रेशन के समय और मैसेज को दिखाना होगा। वहीं 45 साल से उपर के लोगों को डॉक्टर का सर्टिफिकेट भी पेश करना होगा जिससे पता चल सके कि वह गंभीर बीमारी से जूझ रहे है।

6-सरकारी अस्पतालों में मुफ्त,प्राइवेट में 250 रु.-सभी सरकारी अस्पतालों में वैक्सीनेशन मुफ्त में किया जाएगा। जबकि प्राइवेट अस्पतालों में 250 रुपए शुल्क चुकाना होगा जिसमें 150 रुपए वैक्सीन की कीमत और 100 रुपए सर्विस चार्ज होगा।7-मध्यप्रदेश में कितने लोगों का टीकाकरण-
मध्यप्रदेश में आज से शुरू हो रहे दूसरे चरण के टीकाकरण में 71 लाख 62 हजार ऐसे लोगों का टीकाकरण होगा जो 1 जनवरी 2022 को 60 साल की आयु पूरी कर रहे हैं। इसके साथ दूसरे चरण में ऐसे 1 जनवरी 2022 को 45-59 साल के ऐसे लोगों का भी वैक्सीनेशन होगा जो गंभीर बीमारियों से पीड़ित है।
8-प्रदेश में 186 सेंटरों पर टीकाकरण-मध्यप्रदेश में चिन्हित शासकीय और निजी संस्थाएं हैं उन्हें कोविड वेक्सीनेशन सेंटर के रूप में चिन्हित किया गया है। दूसरे चरण के लिए प्रदेश के 186 संस्थाओं का वैक्सीनेशन सेंटर के रूप में चयनित किया गया है। जिसमें 51 निजी अस्पताल, 84 सिविल अस्पताल,13 सरकारी मेडकिल कॉलेज, तीन निजी मेडिकल कॉलेज और 35 प्राइवेट अस्पताल शामिल है।9-वैक्सीनेशन के कितने डोज मिले-मध्यप्रदेश में दूसरे चरण के वैक्सीनेशन के लिए अब तक 16 लाख से अधिक वैक्सीन का आवंटन हो चुका है। वहीं सात लाख से अधिक वैक्सीन डोज मिल चुके हैं।
10-अब तक कितना टीकाकरण- हेल्थवर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स के टीकाकरण के मामले में मध्यप्रदेश देश में दूसरे स्थान पर है। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी के मुताबिक पहले चरण 6 लाख 51 हजार से अधिक हेल्थवर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स का टीकारण हो चुका है जोकि लक्ष्य का 85 फीसदी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.