73 रनों की नाबाद मैच जिताऊ पारी खेलकर टीम की टी-20 सीरीज में बराबरी करने वाले भारतीय कप्तान विराट कोहली ने मैच के बाद कहा है कि उन्होंने मुकाबले से पहले एक खास शख्स से बात की थी। विराट ने यहां दक्षिण अफ्रीका के महान खिलाड़ी एबी डिविलियर्स का नाम लिया, जिनकी सलाह के दम पर वे पिछले मैच की निराशा को छोड़ने में सफल रहे। विराट की मोटेरा स्टेडियम में खेली गई इस पारी के दम पर टीम इंडिया ने रविवार को इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे टी-20 मैच में सात विकेट से जीत दर्ज कर सीरीज को 1-1 से बराबरी पर ला दिया है। दोनों टीमों के बीच टी-20 सीरीज का तीसरा मुकाबला मंगलवार को खेला जाएगा।

विराट कोहली ने मैच के बाद कहा कि, ‘मैंने खेल शुरू होने से पहले एबीडी(एबी डिविलियर्स) के साथ एक विशेष बातचीत की और उन्होंने मुझे सिर्फ गेंद देखने के लिए कहा। ठीक यही मैंने किया।’ विराट ने 49 गेंदों पर नाबाद 73 रन में पांच चौके और तीन छक्के लगाए और इसके साथ ही उन्होंने टी-20 में 3000 रन पूरे कर लिए और यह उपलब्धि हासिल करने वाले दुनिया के पहले खिलाड़ी बन गए। विराट ने टॉम कुरैन पर लॉन्ग ऑफ पर छक्का मारकर अपना अर्धशतक पूरा किया। उन्होंने 18वें ओवर में क्रिस जोर्डन की गेंद को छक्के के लिए पहुंचाकर टीम को यादगार जीत दिला दी। उनके साथ अय्यर आठ रन पर नाबाद रहे। भारत की इंग्लैंड के खिलाफ 16 टी-20 मैचों में यह आठवीं जीत है।

अपनी पारी के दौरान विराट टी-20 फॉर्मेट में अपनी टीम को सबसे ज्यादा बार छक्का लगाकर जीत दिलाने वाले खिलाड़ी भी बन गए हैं। विराट से पहले यह रिकॉर्ड धोनी के नाम था, जिन्होंने यह कारनामा तीन बार किया था। इसके अलावा हार्दिक पांड्या के नाम दो मैच में ऐसा करने का कारनामा दर्ज है। इसके अलावा विराट के नाम क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट में सबसे ज्यादा फिफ्टी जड़ने का रिकॉर्ड भी दर्ज हो गया है। उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ टी-20 क्रिकेट की 26वीं हाफ सेंचुरी पूरी की। इससे पहले यह रिकॉर्ड रोहित शर्मा और उनके नाम संयुक्त तौर पर था। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.