गौतमबुद्धनगर जिले में प्रदूषण का स्तर कम होने का नाम नहीं ले रहा है। इससे लोगों का सांस लेना भी दूभर हो गया है। रविवार को ग्रेनो फिर से डार्क रेड जोन में पहुंच गया यानी वायु प्रदूषण का स्तर गंभीर श्रेणी में दर्ज किया गया।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की रिपोर्ट में ग्रेटर नोएडा का वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 418 और नोएडा का 405 दर्ज किया गया। इससे ग्रेनो देश के सबसे प्रदूषित शहरों में पहले व नोएडा चौथे नंबर पर रहा।

गाजियाबाद का एक्यूआई 407 दर्ज किया गया। नोएडा के चार और ग्रेटर नोएडा के दो मॉनिटरिंग स्टेशन से प्रदूषण की जांच की गई। शनिवार को ग्रेटर नोएडा का 355 व नोएडा का एक्यूआई 344 था, जो रविवार को तेजी से बढ़ गया।

प्रदूषण बढ़ने के कारण

  • ग्रेप के नियमों को पालन नहीं करना
  • जगह-जगह धूल उड़ना
  • जिम्मेदार एजेंसियों की ओर से पानी का छिड़काव नहीं करना
  • कई जगह कूड़ा जलाना
  • वाहनों से निकलने वाला धुआं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.