लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश विधान मंडल में सोमवार को पेश 2021-22 के बजट में अयोध्‍या में निर्माणाधीन हवाई अड्डे का नाम मर्यादा पुरुषोत्‍तम श्रीराम हवाई अड्डा, अयोध्‍या रखने का निर्णय लिया गया है। इसके लिए बजट में 101 करोड़ रुपए की व्‍यवस्‍था की गई है।
अयोध्‍या हवाई अड्डे को अन्‍तरराष्‍ट्रीय हवाई अड्डा के रूप में विकसित करने की योजना है। पिछले साल अगस्‍त के पहले सप्ताह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्‍या में श्रीराम मंदिर निर्माण की आधारशिला रखी थी। इसके बाद से धार्मिक पर्यटन की दृष्टि से अयोध्‍या के प्रति देश-दुनिया में आकर्षण बढ़ा है।

अयोध्‍या स्थित सूर्यकुंड के विकास सहित अयोध्‍या नगरी के सर्वांगीण विकास की योजना के लिए बजट में 140 करोड़ रुपए की व्‍यवस्‍था की गई है। अयोध्‍या में पर्यटन सुविधाओं के विकास एवं सौंदर्यीकरण के लिए 100 करोड़ रुपए की व्‍यवस्‍था की गई है।

बजट में गौतम बुद्ध नगर के जेवर हवाई अड्डे पर हवाई पट्टियों की संख्‍या दो से बढ़ाकर छह करने का निर्णय लिया गया है और बजट में इसके लिए दो हजार करोड़ रुपए की धनराशि प्रस्‍तावित की गई है। वित्‍तमंत्री सुरेश खन्‍ना द्वारा बजट पेश किए जाने के बाद मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने दावा किया कि इस हवाई अड्डे को एशिया के सबसे बड़े हवाई अड्डे के रूप में विकसित किया जाएगा।

कुशीनगर हवाई अड्डा को केंद्र सरकार द्वारा अन्‍तरराष्‍ट्रीय हवाई अड्डा घोषित किया गया है और राज्‍य में जल्‍द ही चार अन्‍तरराष्‍ट्रीय हवाई अड्डे- लखनऊ, वाराणसी, कुशीनगर और गौतम बुद्ध नगर होंगे।इसके अलावा भारत सरकार की उड़ान योजना के तहत अलीगढ़, आजमगढ़, मुरादाबाद, श्रावस्‍ती, चित्रकूट तथा सोनभद्र हवाई सेवा के लिए चयनित किए गए हैं। इनमें सानेभद्र और चित्रकूट में हवाई अड्डे का निर्माण मार्च तक पूरा हो जाएगा जबकि अन्‍य के कार्य पूरे हो चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.