मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन (एमसीए) ने दोहराया है कि महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए पूरे राज्य में लॉकडाउन लगाने के सरकार के नए आदेश के बावजूद आईपीएल मुकाबलों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

एमसीए की ओर से यह स्पष्टीकरण महाराष्ट्र सरकार द्वारा रविवार शाम को राज्य भर में घोषित आंशिक लॉकडाउन के मद्देनजर आया है। एमसीए के एक पदाधिकारी ने सोमवार को एक बयान में कहा, “ हमारे पास शहर के निगम आयुक्त का फोन आया है और उनकी ओर से एसोसिएशन को आश्वासन दिया गया है कि कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए लॉकडाउन जैसे उपाय आईपीएल मैचों पर कोई प्रभाव नहीं डालेंगे, हालांकि अन्य क्रिकेट गतिविधियों को तुरंत रोकने के निर्देश दिए गए हैं। ”

पदाधिकारी ने यह भी पुष्टि की कि आईपीएल टीमें पहले की तरह सामान्य रूप से अभ्यास करना जारी रख सकती हैं। कोई भी क्रिकेट गतिविधि जो बायो-बबल (जैव-सुरक्षित वातावरण) का हिस्सा है, उसके आयोजन में किसी प्रकार की कोई बाधा नहीं आएगी।

एमसीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि वह लोगों की बेचैनी को समझते हैं, लेकिन यह भी आंशिक रूप से है, क्योंकि राज्य सरकार कोरोना टेस्ट को लेकर आक्रामक रही है। एमसीए को अभी तक सरकार से लॉकडाउन के बारे में कोई सूचना नहीं मिली है और अगर यह लगाया जाता है तो मुंबई में होने वाले मैचों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

मुंबई आईपीएल 2021 सत्र के 10 मैचों की मेजबानी करने वाला है और इनमें से कुछ सप्ताहांत में हैं, जिसमें पहला मैच भी शामिल है, जो शनिवार को चेन्नई सुपर किंग्स और दिल्ली कैपिटल्स के बीच खेला जाना है। वहीं 10 अप्रैल से 24 अप्रैल तक मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में मुंबई इंडियंस के लगातार छह टीमों चेन्नई सुपर किंग्स, दिल्ली कैपिटल्स, पंजाब किंग्स, रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु, राजस्थान रॉयल्स और कोलकाता नाइट राइडर्स के साथ मुकाबले होने हैं।

यह विश्वास दिलाया गया है कि मुंबई में अपने शुरुआती मैच खेलने वाली चारों टीमें चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके), दिल्ली कैपिटल (डीसी), पंजाब किंग्स (पीके) और राजस्थान रॉयल्स (आरआर) विशेष आवास में रह रही हैं और बायो-बबल के बाहर किसी भी व्यक्ति के संपर्क में नहीं आएंगी।
उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र सरकार ने रविवार दोपहर काे कैबिनेट बैठक के बाद सप्ताहांत के दौरान पूरी तरह से लॉकडाउन सहित आंशिक लॉकडाउन की घोषणा की थी। इसके तहत शुक्रवार से सोमवार तक रात आठ से सुबह सात बजे तक लॉकडाउन रहेगा। चिंता का विषय यह है कि महाराष्ट्र में फिर से कोरोना के सक्रिय मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। यहां शनिवार को 49 हजार से अधिक नए मामले दर्ज किए गए हैं। इस दौरान अकेले मुंबई में ही नौ हजार से अधिक मामले सामने आए हैं, जिसमें बीसीसीआई (भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड) की परेशानी बढ़ा दी है।
हालांकि बीसीसीआई ने हैदराबाद को बैक-अप आयोजन स्थल विकल्प के रूप में अपनी आकस्मिक योजना में रखा है, जो आईपीएल 2021 के आयोजन के लिए नामित छह मेजबान शहरों में शामिल नहीं है।भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और हैदराबाद के बल्लेबाज मोहम्मद अजहरूद्दी ने शनिवार को अपने बयान में यह कहा था कि आईपीएल के मैचों की मेजबानी उनके स्थानीय शहर को मिलनी चाहिए क्योंकि मुंबई में बेताहाशा कोरोना के केस बढ़ रहे हैं।

वानखेड़े के 10 ग्राउंड स्टाफ हुए थे कोरोना पॉजिटिव
हाल ही में वानखेड़े स्टेडियम के 10 कर्मचारी और प्रतियोगिता प्रबंधन से जुड़े 6 सदस्य कोरोना वायरस की चपेट में आए थे तब से ही आईपीएल वेन्यू के बदलाव की सुगबुगाहट जोर पकड़ रही थी।
मुंबई क्रिकेट संघ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पहले 8 मैदानकर्मी कोरोना पॉजिटिव आए थे फिर इनकी संख्या 10 हो गई। इन सभी कर्मियों को घर भेज दिया गया था और वे अभी क्वारंटीन पीरियड गुजार रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.